Hindi Stories Motivational Short Stories Stories

गड्डे में फंसा मेंढक – प्रेरणादायक कहानी

एक बार एक जंगल में मेंढकों का झुण्ड टहल रहा था. तभी अचानक उनमे से दो मेंढक एक गहरे गड्डे में गिर गए.

सभी मेंढक गड्डे के पास घेरा बनाकर खड़े हो गए. जब उन्होंने देखा कि यह गड्डा कितना गहरा हैं तो उनके होश उड़ गए और उन्होंने गड्डे में गिरे दोनों मेंढको से कहाँ कि अब उनका बचना नामुमकिन हैं.

दोनों मेंढकों ने ऊपर खड़े मेंढको की बात नहीं सुनी और गड्डे से बाहर निकलने के लिए जोर जोर से कूदने लगे.

ऊपर खड़े मेंढकों ने एक बार फिर गड्डे में फसे दोनों मेंढको से कहा कि रुक जाओ. मेहनत करने का कोई फायदा नहीं हैं. तुम बाहर नहीं आ सकते. अपने बचे कुचे दिन इसी गड्डे में गुजार लो.

आखिर कार एक मेंढक उनकी बातो में आ गया और उसने हार मान गड्डे में आत्महत्या कर ली. वहीँ दूसरा मेंढक ने कोशिश करना जारी रखा. उसने गड्डे से बाहर निकलने के लिए जी जान लगा दिया और आखिर कुछ समय बाद वो बाहर निकलने में कामयाब हो गया.

जब दुसरे मेंढको ने कहा कि तुमने हमारी बात सुन हार क्यों नहीं मानी तो उसने कहा कि वह बहरा हैं. उसे दूर से कम सुनाई देता हैं. उसे लगा था कि तुम सब मिल के मुझे चीयर कर रहे हो, मेरा होसला बड़ा रहे हो इसलिए मैंने हार नहीं मानी और कोशिश करता रहा.

कहानी की शिक्षा: दूसरों के सामने अपना मुंह सोच समझ कर खोले. आपकी एक सलाह किसी की ज़िन्दगी बना भी सकती हैं और किसी की बर्बाद भी कर सकती हैं. 

 

42.857142857143