Hindi Stories Short Stories Stories

समझदार गधा – प्रेरणादायक कहानी

ज़िन्दगी में जब भी समस्याएं आती हैं तो कई लोग हार मान बैठ जाते हैं. लेकिन बहुत कम लोग होते हैं जो समस्याओं का सामना करते हैं और उस से निपटना सीखते हैं. आज हम आपको एक कहानी सुनाएंगे जो इसी विषय पर आपको अच्छा ज्ञान देगी.

एक समय की बात हैं. एक कुम्हार अपने गधे के साथ पहाड़ी इलाके से होकर जा रहा था. वहां के वातावरण में नमी थी जिसके कारण जमीन चिकनी हो गई थी. कुछ दूर चलने के बाद कुम्हार के गधे का पैर अचानक फिसल गया और वो एक गहरे गड्डे में जा गिरा. कुम्हार को जब अपने गधे को बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं सुझा तो उसने गधे को उसी गड्डे में दफ़नाने का निर्णय लिया.

कुम्हार गड्डे के अन्दर मिटटी डालने लगा. गधे के ऊपर जैसे ही मिट्टी आती वह उसे झटक देता. जैसे जैसे ज्यादा मिट्टी गधे के ऊपर आने लगी वो वैसे वैसे वह उसे पीठ पर से झटक देता और गिरी हुई मिटटी के ढेर पर खड़ा हो जाता. इस तरह जब कुम्हार के द्वारा डाली गई मिट्टी का ढेर बहुत हो गया तो गधा खुद ही उस पर चढ़ कर गड्डे से बाहर आ गया.

तो इस कहानी से हमें शिक्षा मितली हैं कि जहाँ एक तरफ कुम्हार ने अपनी समस्यां से हार मान ली थी तो वही समझदार गधे ने अपने ऊपर आई समस्यां को झटक दिया और उस से निपटने का गुण सिख लिया. आपको भी अपनी ज़िन्दगी में समस्यां आने पर समझदार गधे की तरह काम लेना चाहिए ना कि हार मान चुके कुम्हार की तरह.

 

42.857142857143